मुखौटों की दीर्घा

मुखौटों की दीर्घा

घोषणा
  • गैलरी वर्तमान में नवीकरण के अधीन है और आगंतुकों के लिए बंद है।

यह मुखौटों की दीर्घा हाल ही में पुनरुद्धार के बाद जनता के देखने के लिए २०१६ में खोली गई । यह चौथी मंजिल पर स्थित है और इस तक वस्त्र और सज्जा कला दीर्घा से होते हुए पहुँचा जा सकता है। दीर्घा में पश्चिम बंगाल, उड़ीसा, असम, कर्नाटक के साथ-साथ भूटान और न्यू गिनी के विभिन्न मुखौटे प्रदर्शित किए गए हैं।

दीर्घा में देखें

संग्रहालय का संग्रह

संग्रहालय के बारे में

1814 में एशियाटिक सोसाइटी ऑफ़ बंगाल (वर्तमान में 1 पार्क स्ट्रीट पर स्थित एशियाटिक सोसाइटी की इमारत) द्वारा स्थापित भारतीय संग्रहालय सबसे पहला और केवल भारतीय उपमहाद्वीप में ही नहीं बल्कि विश्व के एशिया प्रशांत क्षेत्र का सबसे बड़ा बहुप्रयोजन संग्रहालय है।

हमारे साथ जुड़ें

Visits

218595

संग्रहालय के बारे में

1814 में एशियाटिक सोसाइटी ऑफ़ बंगाल (वर्तमान में 1 पार्क स्ट्रीट पर स्थित एशियाटिक सोसाइटी की इमारत) द्वारा स्थापित भारतीय संग्रहालय सबसे पहला और केवल भारतीय उपमहाद्वीप में ही नहीं बल्कि विश्व के एशिया प्रशांत क्षेत्र का सबसे बड़ा बहुप्रयोजन संग्रहालय है।

हमारे साथ जुड़ें

Visits

218595